March 2, 2019
राष्ट्र की बुनियाद मजबूत करने का वक्त

राष्ट्र की बुनियाद मजबूत करने का वक्त

शीशमहल में भी बुनियाद तो पत्थर की ही लगेगी। यदि बुनियाद मजबूत है तो कांच का मकान भी अपनी ज़िंदगी अच्छी तरह जी लेगा और नींव […]
March 1, 2019
दूसरों के दोष न देखें, गुण देखकर अपनाएं

दूसरों के दोष न देखें, गुण देखकर अपनाएं

सौंदर्य सृष्टि में होना चाहिए और सौजन्य समाज की जरूरत है। सौंदर्य और सृष्टि, ये दोनों पशु के जीवन में भी होते हैं लेकिन, उसे समाज […]
February 28, 2019
समय की समझ ही उस पर नियंत्रण है

समय की समझ ही उस पर नियंत्रण है

किसी बूढ़े पेड़ को यदि आंधी गिरा दे तो एक सवाल पैदा होता है कि तारीफ आंधी की की जाए या बात बुढ़ापे की मजबूरी की? […]
X