April 10, 2019

नेतृत्व शिक्षित तो हो पर संस्कारवान भी हो

क्या नेतृत्व करने वाले का केवल पढ़ा-लिखा होना ही पर्याप्त है? क्या पढ़ा-लिखा व्यक्ति जो भी काम करेगा, जो निर्णय लेगा, वे सब सही होंगे? एक […]
April 9, 2019

दुर्गुणों को जीतकर हम मानव कहलाएंगे

सफलता या विजय कौन नहीं चाहता? सभी के मन में जीतने की आकांक्षा होती है। पराजय कभी-कभी मृत्यु के समान लगती है। हम अपनी व्यावसायिक दुनिया […]
April 8, 2019

मानसिक सेहत साध ली तो खुशियां बरसने लगेंगी

इस समय आम जनता के लिए राजनेता बड़े-बड़े, लुभावने वादे कर रहे हैं। चूंकि हमारे यहां लोकतंत्र है तो आलोचना करने का अधिकार सबको है, लेकिन […]
X