November 22, 2018
अहंकार खत्म कर शांति प्रदान करता है गुरु

अहंकार खत्म कर शांति प्रदान करता है गुरु

इन्सान की ज़िंदगी में जब भी कोई बात उतरेगी तो दो तरीके से उतरेगी। शास्त्रों में इसे ‘उभयभांति’ कहा है। अपने आसपास कहीं भी निगाह दौड़ा […]
November 21, 2018
जागरूक रहकर परिजनों को दुर्गुणों से बचाएं

जागरूक रहकर परिजनों को दुर्गुणों से बचाएं

इंद्रियों का विपरीत दिशा में गतिशील होना वासना कहलाता है। वासना को इधर-उधर ले जाने वाले साधन को दुर्गुण कहते हैं और दुर्गुण अधार्मिक गतिविधियों में […]
November 20, 2018
खुश रहने और खुशी देने केलिए थोड़ी दूरी भी आवश्यक

खुश रहने और खुशी देने केलिए थोड़ी दूरी भी आवश्यक

जिस प्रकार डरपोक को हर जगह भय दिखता है, पूर्वाग्रही को उल्टा ही नज़र आता है, कामी को देह के अलावा कुछ नहीं सूझता..ऐसे ही अधिक […]
X